Ethiclogy

गणेश जी का एकमात्र मंदिर, जहाँ वह इंसान का चेहरा लिए विराजमान हैं |



              

वैसे तो गणेश जी के कई मंदिर हैं देशभर में जहां वह गजानन रूप में विराजमान हैं ,परन्तु आज हम गणेश जी के एक ऐसे मंदिर के बारे में बता रहे हैं जिसके बारे में बहुत कम ही लोगों को पता होगा | यह मंदिर हैं गणेश जी का नरस्वरूप मंदिर हैं.जहाँ गणेश जी मनुष्य रूप चेहरा लिए विराजमान हैं | यह मंदिर पुरे भारत में एकमात्र हैं। यह मंदिर तमिलनाडु शहर के कूटनूर से 2 कि.मी. की दुरी पर तिलतर्पण नामक पूरी में स्थित हैं | यह मंदिर न केवल अपने स्वरूप बल्कि पितरों के तर्पण के लिए भी जाना जाता हैं मान्यता है कि इस जगह पर भगवान श्रीराम ने भी अपने पूर्वजों की शांति के लिए पूजा की थी। जिस परंपरा के चलते आज भी कई भक्त अपने पूर्वजों की शांति के लिए यहां पूजा करने आते हैं। यह मंदिर अपनी विशेषता की वजह से जाना जाता हैं| सामान्यतः पितृदोष के लिए नदियों के किनारे तर्पण की विधि की जाती है लेकिन इस मंदिर की खूबी के कारण इस जगह का नाम ही तिलतर्पणपुरी पड़ गया है। तिलतर्पण पपुरी का मतलब ऐसा शहर जहाँ पितरों का तर्पण किया जाता हैं |